, ,

Samyavad ke Sau Apradh


श्री शंकर शरण ने अपनी इस पुस्तक में साम्यवाद के सौ अपराधों का ब्यौरा दिया है, उसकी सै(ान्तिक और दार्शनिक पृष्ठभूमि यही है। इस अपराधें के विवरण से शरण ने तथ्यों को बड़े ही समुचित ढंग से जुटाया है, और उन्हें अपनी भाषा एवम् विवेचन-शक्ति से जीवन्त बनाया है। साम्यवाद की एक विशेषता रही है।

Rs.250.00

Best Seller Rank

#6 in Akshaya Prakashan (See Top 100 in Akshaya Prakashan)
#36 in राजनीति, पत्रकारिता और समाजशास्त्र (See Top 100 in राजनीति, पत्रकारिता और समाजशास्त्र)
#14 in सही आख्यान (True narrative) (See Top 100 in सही आख्यान (True narrative))

Author: Shankar Sharan

Weight .271 kg
Dimensions 8.7 × 5.51 × 1.57 in

Author: Shankar Sharan
Publisher: Akshaya Prakashan
Year: 2010
Binding: (HB)
ISBN: 9788188643271
Pages: 98
Language: Hindi

Based on 0 reviews

0.0 overall
0
0
0
0
0

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

There are no reviews yet.

0:00
0:00