, , ,

Acharya Chanakya Ki Kahaniyan


चाणक्य के काल में पाटलीपुत्र (वर्तमान में पटना) बहुत शक्तिशाली राज्य मगध की राजधानी था। उस समय नंदवंश का साम्राज्य था और राजा था धनानंद। कुछ लोग इस राजा का नाम महानंद भी बताते हैं। एक बार महानंद ने भरी सभा में चाणक्य का अपमान किया था और इसी अपमान का प्रतिशोध लेने के लिए आचार्य ने चंद्रगुप्त को युद्धकला में पारंपत किया।

Rs.300.00

Acharya Chanakya Ki Kahaniyan

Weight .175 kg
Dimensions 8.6 × 5.51 × 1.57 in

Author : Vaideh
Publisher : Prabhat Prakashan
Language : Hindi
ISBN : 9789380183879
Binding : (HB)
Edition : 2019
Pages : 96

Based on 0 reviews

0.0 overall
0
0
0
0
0

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

There are no reviews yet.

0:00
0:00